Wing Commander Abhinandan Varthaman

आज  सारा देश विंग कमांडर अभिनंदन के शौर्य एवं साहस को सलाम कर रहा है । मधेपुरा भी उसके शौर्य व पराक्रम को सैल्यूट करता है । उस जाँवाज अभिनंदन का पूरा परिवार ही एक सैनिक परिवार है जो निष्ठा के साथ वतन की सेवा में लगा है । भारत का एक-एक बच्चा आज हृदय से अभिनंदन का अभिनंदन कर रहा है तथा उसके शौर्य और साहस का स्वागत भी कर रहा है ।

परंतु, समाजसेवी-साहित्यकार डॉ.भूपेन्द्र नारायण मधेपुरी ने भारतीय सैनिकों एवं युवाओं को इस वक्त यही संदेश दिया है कि ये वक्त जश्न में डूबने का नहीं….. पटाखे फोड़ने का नहीं….. और मिठाई बांटने का भी नहीं- बल्कि ये वक्त समस्त भारत को होश में रहने का है….. ये वक्त चौकन्ना रहने का है और ये वक़्त अहर्निश अलर्ट रहने का भी है ।

डॉ.मधेपुरी ने भारतीय युवाओं से अनुरोध किया है कि इस वक्त अपने आसपास की हर गतिविधि पर नजर रखें और दलगत राजनीति से खुद को दूर रखें । उन्होंने देशवासियों से यही कहा कि यह वक्त एक दल और एक नेता की जय-जयकार करने का नहीं है । जय-जयकार हो तो केवल जल, थल व नभ सेना के वीर जवानों की हो । ये वक्त है- सबके एकजुट होने का….! एक साथ मिलकर मुकाबला करने का….!

 

*** डॉ.मधेपुरी की बातें ***